मेरी साली नोशी के साथ मस्ती


Click to Download this video!
0
loading...

प्रेषक : दीपक …

हैल्लो दोस्तों, यह एक सच्ची घटना है एक बार हमारे परिवार में एक शादी थी, वहाँ सभी आए हुए थे। मुझे शादी के मौके पर एक गिफ्ट में गोल्ड की चैन ससुराल वालों की तरफ से मिली थी। मेरी साली नोशी जो मुझे हमेशा चाहती थी और हम जब भी मिलते थे तो फ्लर्ट भी करते थे। तो वो बोली कि लाइए मुझे दीजिए, में आपको पहनाती हूँ और मेरे हाथ से लेकर मेरे गले में चैन पहना दी और फिर हंसकर बोली कि मुझे चैन कब पहनाएगें? तो मैंने कहा कि इसी समय देर किस बात की और मैंने तुरंत ही अपनी गले की चैन उतारकर नोशी के गले में डाल दी।

फिर मैंने कहा कि मैंने तुमको भी चैन पहना दी और हँसकर नोशी के कान में बोला कि अब तुम मेरी हो गयी, आज इस शुभ मुहूर्त में हम दोनों ने माला पहना दी। तो वो बोली कि में तो आपकी पहले से ही थी, लेकिन वो शर्माकर चैन उतारने लगी। तो मैंने कहा कि नहीं यह तो मेरा तुमको गिफ्ट है, में इसे नहीं लूँगा, अब तो में तुमसे दूसरा गिफ्ट लूँगा, जो तुम अब मना नहीं कर सकती। तो उसने पूछा कि क्या? तो मैंने कहा कि बाद में बताऊंगा। फिर हम लोग जब पार्टी हॉल में जा रहे थे तो संयोगवश लिफ्ट में हम दोनों अकेले ही थे, तो मैंने मौका देखकर सामने शीशे में देखकर कहा कि आज तो सिर्फ़ तुम ही दिख रही हो और नोशी के गाल दबा दिए। तो वो कुछ नहीं बोली और फिर हम लोग शादी के प्रोग्राम में शामिल हो गये, फिर उसके बाद में मन ही मन उसको चोदने का मौका ढूँढने लगा।

फिर अगले दिन जब सब मेहमान चले गये थे, तो घर पर और कोई नहीं था और उस समय घर में, में और नोशी ही थे। फिर मैंने नोशी को चाय के लिए रिक्वेस्ट की, तो वो चाय बनाने चली गयी। तो तभी मैंने बैठे-बैठे इंटरनेट ऑन कर दिया और पॉर्न साईट सर्च कर रहा था, तो तभी नोशी आकर चुपचाप पीछे से खड़ी होकर देख रही थी। अब में भी हॉट सेक्सी सीन का मजा ले रहा था कि अचानक से मैंने देखा, तो वो मेरे ठीक पीछे थी। फिर में जैसे ही हड़बड़ी में पीछे घुमा, तो नोशी चाय लेकर खड़ी थी और पूरी ट्रे उस पर उलट गयी। तो मैंने नोशी को जल्दी से बाथरूम में जाकर पानी से धोने के लिए कहा क्योंकि चाय गर्म थी। तो वो जल्दी से बाथरूम में गयी और शॉवर खोल दिया, ताकि ठंडे पानी से जल्दी से आराम मिले और जब बाथरूम का दरवाज़ा खुला ही था। तो मैंने कहा कि पानी तेज़ चला लो और तुम्हें कही जलन तो नहीं हो रही है ना, जल्दी से अपने कपड़े बदल डालो कहते हुए में बाथरूम के पास चला गया और देखा तो भीगे कपड़ो में नोशी बेहद खूबसूरत लग रही थी। अब नोशी की ब्रा उसके ब्लाउज में से साफ-साफ़ नज़र आ रही थी।

अब उसकी ब्रा में से उसके बूब्स बाहर आने को हो रहे थे और उसकी साड़ी का पल्लू पूरा नीचे था। फिर नोशी बोली कि मेरी हेल्प कीजिए ज़रा अलमारी से टावल ला दीजिए। तो में टावल निकालने गया, तो नोशी ने अपनी साड़ी उतार दी और अपना ब्लाउस भी खोल दिया। अब नोशी अपनी ब्रा खोलने की कोशिश कर रही थी, लेकिन वो खुल नहीं रही थी। फिर मैंने नोशी को टावल पकड़ाया, तो नोशी उसे अपने हाथ में लेकर हेगर पर टाकने के बाद अपनी ब्रा को खोलने की कोशिश करने लगी। तो मैंने बाहर से कहा कि में हेल्प करूँ, तो नोशी बोली कि हाँ-हाँ जल्दी खोलिए ना, चाय गर्म थी ना। तो नोशी दरवाजे की तरफ अपनी पीठ करके खड़ी हो गयी और मैंने उसकी ब्रा का हुक खोल दिया और उसकी कमर पर अपना हाथ फैरते हुए कहा कि अब कही जलन तो नहीं हो रही है ना, अपने बदन पर ठंडा पानी डालो और शॉवर चला दिया।

अब शॉवर के नीचे नोशी के बूब्स बहुत ही सेक्सी लग रहे थे, नोशी के बूब्स उठे हुए थे, अब वो पूरी मस्ती में आ रही थी, तो नोशी को देखकर में भी भीग गया। फिर नोशी बोली कि आप भी भीग गये हो जल्दी से अपने कपड़े उतार लीजिए, तो मैंने झट से अपने सारे कपड़े उतारकर टावल लपेट लिया। अब मेरा लंड पूरा टाईट होकर खड़ा हो गया था, अब मेरा लंड टावल में से साफ-साफ दिख रहा था। फिर मैंने धीरे से नोशी के बाल उसकी गर्दन पर से हटाए और कहा कि ज़रा सामने घूमो कही ज्यादा जलन तो नहीं हो रही है ना और ठीक से अपने पैर पर और जाँघ भी धो लो, वहाँ भी चाय गिरी है और फिर मैंने नोशी का नाडा खोल दिया, तो नोशी ने अपना पेटीकोट उतार दिया और फिर नहाने लगी। तो मैंने कहा कि कहीं जलन हो रही हो तो क्रीम लगा लो।

तो वो बोली कि नहीं अब ठीक लग रहा है, तो मैंने कहा कि अब जलन मेरे बदन पर शुरू हो गयी है, जब नोशी बड़ी मदमस्त लग रही थी और मुझसे रहा नहीं जा रहा था, अब में क्या करूँ? मुझे कुछ समझ में नहीं आ रहा था तो में नोशी के कमर पर हाथ फैरने लगा और बोला कि मेरी जान तुम इतनी सेक्सी हो, मैंने कभी सोचा नहीं था, आज तो मुझे गिफ्ट चाहिए और मैंने पहले उसके हाथ को चूमा और फिर नोशी के होंठो को चूम लिया। तो नोशी बोली कि क्या कर रहे है? तो मैंने कहा कि मस्ती और क्या? और फिर थोड़ा सा आगे बढ़ा और नोशी के पास सटकर खड़ा हो गया और नोशी के बालों को हटाते हुए अपने एक हाथ को उसकी कमर पर और दूसरे हाथ को नोशी के बूब्स के ऊपर रखते हुए उसको अपनी तरफ खींच लिया और उससे बोला कि जब से मैंने आपके भींगे हुए बदन को देखा है मेरे मन में आग सी लगी है और मेरा मन बैचेन हो गया है, आज में आपकी हर कामना को पूरा करना चाहता हूँ। अब में नोशी के बूब्स को दबाने लगा था, तो नोशी पहले कुछ देर तक तो विरोध करती रही, लेकिन थोड़े समय के बाद मैंने देखा कि नोशी उम्म्म की आवाज़ निकालने लगी और फिर सस्स्स्स्सस आहह उम्म्म्ममम की मस्ती भरी एक अजीब सी आवाजे निकालने लगी थी।

अब नोशी हालांकि उस वक्त भी ये दिखाने की पूरी कोशिश कर रही थी कि नोशी वैसा नहीं चाहती है, लेकिन नोशी को मज़ा आने लगा था। अब में नोशी के बूब्स को जोर-जोर से मसल और दबाने लगा था और अपनी जीभ से चाटने लगा था और उसको कहा कि अब सारी जलन मिट जाएगी और चारो तरफ अपनी जीभ फैरने लगा था, अहह क्या लग रही थी? अब में उसके निपल को चूस रहा था। फिर उम्म्म मैंने नोशी के बूब्स को अपने हाथों में भर लिया और उनको दबाने लगा था। फिर मैंने नोशी के मुँह में अपना मुँह डाला और उसे पागलो की तरह किस करने लगा। तो अब नोशी भी जोश में आ गयी थी आहह उम्म्म्म, अब में नोशी के बूब्स को अपने मुँह में भरने की कोशिश कर रहा था, लेकिन वो इतने बड़े थे कि यह नामुमकिन था। अब वो उधर सिसकारियाँ भर रही थी सस्स्स्स्स्स्स्सस्स, एम्म आहह हाईईईईईई आप यह क्या कर रहे हो? अहह ओमम्म्म, अहह ओमम्म्मम, अब में भी जोश में आ गया था और मेरा टावल भी खुल गया था।

अब मेरा लंड पूरी मस्ती से खड़ा था, तो नोशी यह देखकर बोली कि अरे यह तो बहुत ही बड़ा है और मेरे लंड को अपनी हथेली से सहलाने लगी। फिर नोशी ने पूछा कि इसकी लंबाई क्या है? तो मैंने मुस्कुराते हुए पूछा कि किसकी? तो नोशी बोली कि इसकी। तो मैंने फिर से चुटकी लेते हुए पूछा कि किसकी? तो नोशी ने किस करते हुए मेरे लंड को ज़ोर से दबाया और बोली कि इसकी। तो में बोला कि लंबाई चूसने की नहीं नापने की चीज़ होती है, जब अंदर जाएगा तो नाप लेना, तुम बोला तो लंबाई बताऊँ, तो नोशी हँसने लगी। तो मैंने टावल से उसके गीले बदन को पोछते हुए कहा कि चलिए हम आज सुहागरात ही मनाएँगें और ये कहते हुए ऐसा लगा की अब मेरे लिए बर्दाश्त करना मुश्किल हो गया था।

फिर मैंने नोशी को अपनी बाहों में उठा लिया और ले जाकर बेड पर सीधा लेटा दिया और नोशी को किस किया। तो नोशी बोली कि किस में ही टाईम खराब करोगें, या कुछ आगे भी करोगे। तो में नोशी की एक एक निपल को अपने मुँह में लेकर चूसने लगा और नोशी ज़ोर-ज़ोर से एग्ज़ाइटेड के मारे चिल्ला रही थी और ज़ोर से चूसो और छटपटा रही थी। अब में अपने दोनों हाथों से उसके बूब्स को दबा रहा था और अपने मुँह से एक-एक करके उसके निपल को चूस रहा था। फिर में अपने एक हाथ को उसकी चूत के बालों पर फैरने लगा। तो अब नोशी अपने पैरो को उछाल-उछालकर चिल्ला रही थी कि राजा और ज़ोर से करो और ज़ोर से दबाओं और ज़ोर से चूसो। फिर में नोशी के पूरे बदन को चूमने लगा, अब नोशी मानो नई दुल्हन की तरह सिसकियाँ ले रही थी और में नोशी के पूरे बदन को किस पर किस कर रहा था। फिर मैंने नोशी को उल्टा लेटा दिया और नोशी के पिछले हिस्से पर अपनी जीभ फैरने लगा, अब नोशी को तो मानो स्वर्ग का आनंद मिल रहा था। फिर मैंने नोशी के दोनों कूल्हों के बीच में भी अपनी जीभ को घुमाकर उसे एग्ज़ाइटेड कर डाला और फिर ऊपर से नीचे तक नोशी को किस करता चला गया।

loading...

अब हम दोनों से रहा नहीं जा रहा था तो मैंने अपना लंड नोशी की चूत के मुँह पर रखा और थोड़ी देर के लिए उसे सताने के लिए उस पर धीरे-धीरे रगड़ता चला गया। अब नोशी को इतना मज़ा आ रहा था की नोशी कुछ नहीं बोल रही थी, लेकिन नोशी के चेहरे से साफ जाहिर था कि नोशी मेरे लंड को अंदर लेने के लिए बेकरार थी। फिर मैंने उसके मुँह पर अपना एक हाथ रखकर एक हल्का सा धक्का मारा, तो नोशी सिहर उठी और उसे थोड़ा दर्द होने लगा। तो मैंने नोशी के मुँह पर झुककर नोशी को एक डीप किस दे दी, तो उसे वो अच्छा लगा और मैंने डीप किस के दौरान एक और धक्का दे दिया तो मेरा पूरा लंड उसकी चूत के अंदर घुस गया। तो उसे बहुत दर्द हुआ, लेकिन मेरी किस ने उसे चिल्लाने से रोक लिया और उसी पोज़िशन में मैंने उसी डीप किस को चालू रखा। अब उसे इससे बहुत अच्छा लग रहा था और मेरे दोनों हाथ नोशी के बूब्स को मसल रहे थे, अब नोशी को बहुत मज़ा आ रहा था।

फिर मैंने दूसरा धक्का दे दिया और मेरा लंड और अंदर चला गया और वो ज़ोर से चिल्लाई, लेकिन मैंने नोशी के मुँह को किस से भर दिया और उसके बूब्स को ज़ोर-ज़ोर से दबाने लगा। तो उसे थोड़ा दर्द ज़रूर हुआ, लेकिन नोशी मज़े लूट रही थी और फिर थोड़ी देर तक उसे सहलाने के बाद मैंने एक और आखरी धक्का दे दिया और मेरा पूरा लंड नोशी की चूत के अंदर चला गया। अब नोशी ज़ोर-जोर से सिसकारी मार रही थी अहह उईईईईईई माँ मज़ा आ गया, चोद दे यार अहह। अब में फिर से धक्का मारने लगा था, तो अब नोशी भी धीरे-धीरे उछल-उछलकर मेरा साथ देने लगी थी। अब नोशी के पैर मेरे कंधे पर होने से वो पोज़िशन बहुत टाईट थी और में नोशी की चूत के अंदर तक चला गया था और गोल पर गोल करने लगा था। अब नोशी चिल्ला रही थी कि तेरा लंड बहुत बड़ा जालिम है, अब बस करो मुझसे सहा नहीं जाता है, लेकिन अब में रुकने वाला नहीं वाला था। अब नोशी भी मुझे कह रही थी और ज़ोर से फुक करो, मुझे ज़िंदगी में ऐसा मज़ा कभी नहीं आया और अब में धक्के पे धक्के दे रहा था और नोशी भी उछल-उछलकर मेरा साथ दे रही थी और ज़ोर-ज़ोर से अपना लंड उसकी चूत में अंदर बाहर करने लगी थी।

अब नोशी अपने बाल नोच रही थी, तो कभी अपने बूब्स को दबा रही थी। बस मुझे नोशी के साथ आज ज़िंदगी का मज़ा लूटना था और नोशी इतनी तेज़ी से उछल रही थी की नोशी की चूत से पच-पच की आवाजें पूरे रूम में गूँजने लगी थी। अब में परेशान हो गया था कि में झड़ क्यों नहीं रहा था? फिर 20 मिनट के बाद मैंने नोशी की चूत में ही अपना गर्म-गर्म रस डाल दिया और अब नोशी भी झड़ गयी थी। अब मेरा लंड अभी तक नोशी की चूत के अंदर था। फिर थोड़ी देर के बाद हम दोनों अलग हुए तो मैंने कहा कि मन नहीं भरा है। तो नोशी बोली कि तो करते रहो, तो मैंने कहा की पहले तुम्हें इस लंड महाराज की सेवा करनी होगी। तो नोशी मेरे लंड को अपने हाथ में लेकर सहलाने लगी और में उसके निपल को मसलने लगा, अब नोशी के निपल भी टाईट होने लगे थे।

फिर नोशी ने मेरे लंड को चूमा और फिर अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगी। अब मुझे बड़ा आनंद आ रहा था, अब में भी बोल रहा था कि रानी आज इस पूरा पी ले और ज़ोर से चूस, पूरी जीभ से चाट, खा लेना, खूब ज़ोर से ले प्लीज। अब वो भी उम्म्म्म करके मेरे लंड को लॉलीपोप की तरह चूसे जा रही थी। फिर नोशी ने अपनी जीभ से मेरा पूरा लंड साफ कर दिया और उसे वापस फ्रेश केले की तरह कर दिया और चूस-चूसकर मेरा लंड गर्म लोहे की तरह बना दिया। अब में नोशी के बूब्स से खेल रहा था, अब नोशी भी गर्म हो गयी थी। फिर में उससे बोला कि अब में तुमको फिर से मजा देता हूँ और उससे बोला कि अब में तुम्हें डॉगी स्टाइल में चोदूंगा। तो नोशी बोली कि कैसे? तो मैंने कहा कि अरे पागल आज तक ऐसे नहीं करवाया, तो क्या मस्ती मिली रे? रोज नई-नई स्टाइल से चोदने का आनंद लेना चाहिए मेरी जान। तो नोशी बोली कि तो आज नई-नई स्टाइल मेरे ऊपर करो, देखूं तो सही आप अपनी मेम साहब से कैसे-कैसे करते है?

loading...

फिर मैंने नोशी के दोनों हाथों को साईड में रखी टेबल पर जमा दिए और बोला कि अब थोड़ा झुक जाओं। फिर मैंने नोशी को डॉगी स्टाइल में खड़ा कर दिया और पीछे से उसके दोनों बूब्स को पकड़कर मसल डाला और अपना लंड उसकी दोनों जांघो के बीच में डालकर अपने लंड को नोशी की गांड के छेद पर थोड़ा रगड़ा और उसे गर्म किया। फिर मैंने अपने लंड को एक ही झटके में नोशी की गांड के छेद के अंदर डाल दिया। अब नोशी को अंदाजा नहीं था कि में क्या करने वाला हूँ? तो नोशी एकदम से चिल्लाने लगी और बोलने लगी कि राजा मेरी गांड के अंदर बहुत दर्द हो रहा है। अब मेरे हाथ नोशी के बूब्स को मसल रहे थे और उसके निपल को पकड़कर खींच और मसल रहा था। लेकिन मैंने नोशी की एक ना सुनी और नोशी की गांड में अपना लंड अंदर बाहर करता रहा, यह नोशी का पहली बार था इसलिए उसे बहुत दर्द हो रहा था।

फिर थोड़ी देर के बाद नोशी ने चिल्लाना बंद कर दिया और मजे लेने लगी। अब मेरा लंड नोशी की टाईट गांड के छेद में पिस्टन की तरह अंदर बाहर हो रहा था और में नोशी के कूल्हों को ज़ोर-ज़ोर से दबा रहा था। अब इस स्टाइल में नोशी को दोनों तरफ से इतना मज़ा आ रहा था कि नोशी आहें भरती जा रही थी और बोल रही थी कि करते रहिए रुकिये नहीं, इससे मेरे लंड को इतना एग्ज़ाइटमेंट हो रहा था और मुझे भी मानो की बहुत आनंद आ रहा था। फिर मैंने नोशी से कहा कि अब मेरा हॉर्स पॉवर देखो तुम्हें घोड़े की तरह चोदूंगा तो मैंने अपनी पोज़िशन लिए उसके बूब्स को ज़ोर से पकड़ लिया और धक्का देने लगा। तो अब नोशी भी अपनी गांड को पीछे कर-करके मेरा पूरा लंड खाना चाहती थी। अब में भी ज़ोर-ज़ोर से धक्के देने लगा था, अब मुझे नोशी के गोल-गोल कूल्हों को धक्के देने में बहुत मजा आ रहा था। अब नोशी बोल रही थी कि चल मेरे घोड़े फटाफट और ज़ोर से और जोर, आज तेरी रानी मस्त हो गयी है राजा, आज में तुझको मान गयी, मुझे आज तक इतना ज़ोर का मजा कभी नहीं आया। अब मेरा वक़्त आ गया था, अब में कभी भी अपना लंड झड़ सकता था और अब वो भी झड़ने वाली थी। फिर मैंने नोशी की गांड को अपने दोनों हाथों से पकड़कर धक्के देना चालू किया और नोशी भी काफ़ी एग्ज़ाइट्मेंट में चिल्ला रही थी और ज़ोर से धक्का मारो और मेरी गांद फाड़ दो। फिर मैंने अपना पूरा लंड नोशी के कूल्हों पर डाल दिया, तो नोशी के कूल्हें मेरे स्पर्म से चिकने हो गये और में अपना लंड नोशी के कूल्हों के बीच में रगड़ने लगा और फिर हम धीरे-धीरे अलग हो गये। फिर मैंने नोशी के साथ थोड़ी इधर उधर की बातें की उसको कैसा लगा पूछा और बोला कि अच्छा एक नई स्टाइल और है, करना चाहोंगी? तो नोशी बोली क्या? जल्दी बोलो जो करना है, जैसे करना है, बस करते जाओं, कुछ ना पूछो मेरे राजा। तो मैंने कहा कि क्या में तुम्हारे बूब्स को फुक कर सकता हूँ? तो नोशी बोली कैसे? तो मैंने नोशी को बताया कि तुम तुम्हारे बूब्स को पकड़कर उसे भींच दो और में उसमें से अपना लंड घुसाकर तुम्हारे बूब्स को फुक करूँगा और फिर मैंने नोशी को बताया कि तुम्हारे निपल में मेरे लंड के आगे पीछे होने से तुम्हारे निपल और बूब्स दोनों को बहुत मज़ा आएगा। तो नोशी बोली कि ठीक है चलो अजमाते है।

फिर मैंने नोशी को सोफे पर लेटा दिया और नोशी की कमर तक आ गया और नोशी ने अपने बूब्स को अपने दोनों हाथों से दबाकर दोनों को भींच दिया। तो मैंने उसके बीच में से अपने लंड के लिए थोड़ी जगह बनाई और उसमें अपना लंड डालकर अंदर बाहर किया। तो नोशी को पहले तो कुछ मज़ा नहीं आया, लेकिन बाद में नोशी की निपल धीरे-धीरे कड़क हो गयी। अब में ज़ोर-ज़ोर से अपने लंड से उसके बूब्स को रगड़ने लगा था और उसके बूब्स को दबाने लगा था। अब मुझे बहुत मजा आने लगा था, अब बीच-बीच में मेरा लंड नोशी के होंठो को भी छु लेता था। अब उसे उसकी चूचीयों की चुदाई का मज़ा आ गया था और फिर नोशी ने मेरा लंड अपने मुँह में भर लिया और चूसने लगी थी। अब में नोशी के निपल मसल रहा था और अपने एक हाथ से नोशी की चूत को मसल रहा था। अब वो भी बुरी तरह से एग्ज़ाइटेड हो गयी थी।

loading...

फिर मैंने अपना लंड नोशी के मुँह से बाहर निकाला क्योंकि में झड़ने वाला था और फिर मैंने अपने लंड का स्पर्म नोशी के बूब्स पर छोड़ दिया। और मुझे इससे इतना मज़ा आया की क्या बताऊँ? फिर मैंने नोशी से लिपटकर उसे अपनी गोदी में बैठा लिया और मेरा लंड उसकी गांड के दोनों कूल्हों के बीच में डालकर पीछे से उसे किस करता और सहलाता रहा और उसके बूब्स, उसकी चूत को चूमता, चाटता, दबाता, उंगली करता हुआ उससे बात करता रहा। अब में उसे छोड़ना नहीं चाह रहा था तो में उसे इसी पोज़िशन में सोफे पर ले जाकर एक दूसरे पर लेट गये और चुम्मा, चाटी करने लगे। अब मुझे मानो आज जन्नत और उसमें हूर की परी मिल गयी थी और उसे उसका नज़ारा देखने को मिल गया था।

फिर हम दोनों एक दूसरे की बाहों में आ गिरे और बिस्तर पर लेट गये। अब में नीचे और वो ऊपर थी और मैंने उसे अपनी बाहों में समा लिया था और नोशी को किस करने लगा था। फिर नोशी बोली कि ऐसी शानदार मस्ती मुझे आज तक कभी नहीं मिली। तो मैंने कहा कि मेरी रानी जब मौका दोगी तो इससे भी जोरदार स्टाइल में करूँगा, तुम सोचती रह जाओगी, आज से तुम मेरी हो गयी हो ना, अब तुम जब भी बुलाओगी तो में हाज़िर हो जाऊंगा मेरी जान और फिर मैंने एक ज़ोर का चुम्मा लिया और उसकी जीभ भी चूस ली। फिर थोड़ी देर के बाद हम दोनों उठे और अपने-अपने कपड़े पहन लिए और बोले कि अब जब भी हमें कोई मौका मिलेगा तो हम दोनों इस तरह के मज़े लूटते रहेंगे और खूब मस्ती करेंगे ।।

धन्यवाद …

Comments are closed.

error: Content is protected !!

Online porn video at mobile phone


hindi sexy storehindhi sex storisexi hindi kathahindi sex story audio comhindi sex kahani hindi fontsexi hindi kathasex new story in hindihindhi sex storidukandar se chudaisexstori hindisaxy story audiosex hindi story comhinde saxy storybaji ne apna doodh pilayanew hindi sexy storysexey storeyhinde sexy storyhindi sex story audio comnew hindi sexy story comsexy stori in hindi fonthindu sex storihindi sexi storiesax store hindefree sexy stories hindisexi kahania in hindihinde sexi kahanisexstores hindisex story download in hindihindi sexy story adiosax store hindehindi sex khaneyahinde sax storehindi saxy story mp3 downloadhinndi sexy storysexy story hibdisexi stories hindihindi font sex kahanisexy story new hindisexy kahania in hindihindi sexy stores in hindibrother sister sex kahaniyasex stories for adults in hindinew hindi sexy story comsex stores hindi comhindi audio sex kahaniawww sex kahaniyasex hinde storesexy story hindi mhindi sex storyhinde sexy storyfree sexy story hindireading sex story in hindihindi storey sexywww hindi sex store comhindi sax storiysex hindi sitoryhindi sexy khanisexy new hindi storyhhindi sexsaxy story hindi mewww indian sex stories cosex stories in hindi to readnew hindi sexy storynanad ki chudaisexy stiorysex sex story hindihinde sex khaniahini sexy storyhindi sexi kahanihindisex storiekamuktha comhinde sex khaniabhabhi ko nind ki goli dekar chodahindisex storeyhindi sexy sotorihinde sexe storehindi sex kahanihindi new sexi storysex story hindi allsaxy hindi storyssexi stroysexy storiysexy stiorysexy stry in hindihindi sexy storieahinde sex khaniahindi sex kahani newindiansexstories conupasna ki chudaisex hind storesexy story hindi freeall hindi sexy storysex story of in hindihindi sex kahani newsexy free hindi storyhindi sex kahinisexy stotihindi font sex kahanihindi sexy storiea