दोस्त की बहन की चुदाई नशे में


Click to Download this video!
0
loading...

प्रेषक : शेखर …

हैल्लो दोस्तों, जब से मेरी गर्लफ्रेंड मुझसे दूर गई है तभी से में कुछ ज्यादा ही फ्री हो गया और में एक नंबर का चुदक्कड बन गया हूँ। अब जो भी मुझे पसंद आती है बस में उसे चोदने की ही सोचता रहता हूँ। यह स्टोरी मेरे एक दोस्त की बहन की है, जो उसकी छोटी बहन थी, मैंने उसे कैसा चोदा था? इस स्टोरी में आपको बताने जा रहा हूँ। अब में आपका समय ख़राब नहीं करते हुए सीधा अपनी स्टोरी पर आता हूँ। मेरा एक दोस्त है उसका नाम रवि है, उसकी फेमिली में वो दो भाई, मम्मी, पापा और एक बहन है, जिसकी उम्र 22 साल है। उसकी बहन का नाम नीतू है, वो ग्रेजुयशन कर रही है और फाइनल ईयर में है, उसका रंग फेयर है, वो ना गोरी है और ना सांवली है, उसकी हाईट 5 फुट 7 इंच है और ना ही वो बनठन के रहती है।

यह बात मई गर्मियो की है रवि के पेरेंट्स और उसका भाई गावं गये हुए थे क्योंकि उनके रिश्तेदार में शादी थी। अब यहाँ पर बस रवि और उसकी बहन थी, रवि जॉब करता है और उसकी बहन के एग्जॉम चल रहे थे इस वजह से वो दोनों नहीं गये थे। मैंने उसकी बहन को कभी ग़लत नज़र से नहीं देखा था, अगर में चाहता तो उसे अपनी गर्लफ्रेंड बना लेता, लेकिन मैंने कभी ऐसा सोचा नहीं था। फिर एक शाम मुझे रवि की कॉल आई, तो उसने पूछा कि भाई कहाँ है? तो मैंने कहा कि घर पर ही हूँ, तू बता क्या हुआ? तो उसने कहा कि भाई मेरे घर आ जा आज कही पीने को बैठते है। तो मैंने कहा कि ठीक है में तेरे घर पहुँचता हूँ। तो उसने बोला कि ठीक है तू मेरे घर पर पहुँच और बैठ, में अभी रास्ते में ही हूँ में 10 मिनट में आता हूँ।

फिर में उसके घर पहुँचा तो नीतू ने दरवाजा खोला और बोली कि भैया अभी घर पर नहीं है। तो मैंने उसे बताया कि वो आ रहा है, जब शाम के 5 बज रहे थे तो में बाहर ही था। फिर वो बोली कि धूप में क्यों खड़े हो? अंदर आकर बैठो। फिर में अंदर गया और एक रूम में जहाँ ए.सी लगा हुआ है वही बैठ गया। फिर थोड़ी देर में वो पानी लेकर आई और फिर मैंने पानी पिया। फिर वो बैठकर पूछने लगी कि रवि भैया कब तक आएगें? तो मैंने कहा कि 10 मिनट में आ रहा है। तो वो बोली कि ठीक है जब उसने लाल कलर का एक पंजाबी सूट पहन रखा था, जिसमें वो एकदम सेक्सी लग रही थी। फिर मैंने उससे कहा कि आप सूट में बहुत अच्छी लग रही हो। तो उसने स्माइल की और कहा कि थैंक्स और फिर वो वहाँ से चली गई। फिर थोड़ी देर में रवि आया और फिर हम निकल गये।

फिर हमने सिग्नेचर की एक आधी बोतल ली और फुल चिकन मँगवाया और पीने लगे। अब आधी बोतल ख़त्म होने के बाद वो बोला कि एक और आधी बोतल ले आते है। तो मैंने कहा कि भाई बहुत है अब हम चलते है, लेकिन वो नहीं माना और एक और आधी बोतल ले आया। अब हमने काफ़ी पी ली थी, अब वो साला बस पिए जा रहा था, लेकिन में अभी भी कंट्रोल में था। अब हम दोनों 7-7 पेग ले चुके थे और उसके तो बहुत ज्यादा हो गई थी। फिर मैंने बिल पे किया और उसे बाइक पर बैठाया और घर लेकर आया। अब उस साले ने बहुत पी ली थी, अब उसे कोई होश नहीं था। अब वो मुझे बस इतना बोल रहा था कि भाई आज मेरे घर पर ही रुकना हम एक साथ मेरे घर पर खाना खाएगें, तो मैंने कहा ठीक है। फिर जैसे ही वो घर के अंदर गया और ए.सी वाले रूम में जाते ही वो वही लुढ़क गया। फिर नीतू आई और बोली कि क्या हुआ? तो उसे देखते ही रवि बोला कि आज शेखर यही रुकेगा, तू जा इसके लिए खाना बना।

फिर वो बोली कि हाँ ठीक है, पहले खुद को संभालो पता नहीं कितना पीते है? आने दो पापा को सब बताती हूँ। फिर हम दोनों उसे ए.सी वाले रूम में लेकर आ गये और उसे सोफे पर बैठाया, तो वो लेट गया और में उसके बगल में बैठ गया। फिर नीतू आई और बोली कि बाइक अंदर कर लो, तो फिर मैंने बाइक अंदर की और रवि के साथ बैठकर फेसबुक पर दोस्तों के साथ चैटिंग करने लगा। अब हमें दारू एकदम चढ़ी हुई थी, फिर थोड़ी देर बाद रवि तो सो गया और में बैठकर चैटिंग करता रहा। फिर थोड़ी देर के बाद नीतू आई और बोली 10 बज गये है आओं खाना खा लो। तो मैंने कहा कि रवि तो सो गया है, अब में क्या खाऊंगा? में यही हूँ। तो वो बोली कि ठीक है और फिर वो अपने रूम में चली गई। फिर मैंने लाईट ऑफ की और फ़ेसबुक चलाने लगा। फिर एक घंटे के बाद मुझे वॉशरूम लगा और में जाने लगा, तो मैंने देखा कि नीतू के रूम में लेपटॉप चल रहा था।

फिर में उसके रूम के बगल में गया और खिड़की से देखने लगा, उसका बेड खिड़की के पास ही था और उसका सोने का सिर खिड़की की तरफ है। उसने शायद कभी ध्यान नहीं दिया होगा कि रात को अंधेरे में बाहर से अंदर दिखता है अगर अंदर कुछ चल रहा हो। फिर में खिड़की से चिपक कर खड़ा हो गया और अंदर देखने लगा। उसे लगा था कि हम सब सो गये है और वो लेपटॉप पर पॉर्न साईट खोलकर ऑनलाइन वीडियो देख रही थी और अब वो एकदम नंगी होकर अपनी चूत को सहला रही थी और अपने बूब्स दबा रही थी। फिर थोड़ी देर के बाद मैंने खिड़की को ख़टखटाया, तो उसने घबराकर अपने लेपटॉप की स्क्रीन डाउन कर दी और कमरे में अंधेरा हो गया। फिर वो टी-शर्ट और केफ्री पहनकर बरामदे में आई, तो उसने देखा कि में वहाँ खड़ा था। तो वो बोली कि आप यहाँ क्या कर रहे हो? तो फिर मैंने कहा कि में तो वॉशरूम जा रहा था, लेकिन देखा कि तुम कुछ देख रही थी तो में भी आ गया, तो वो कुछ नहीं बोली।

फिर थोड़ी देर के बाद वो बोली कि प्लीज किसी को कुछ मत बताना। तो मैंने कहा कि नहीं बताऊंगा और फिर वो जाने लगी। अब में तो वैसे भी नशे में था और अब मेरा लंड तो ये सब देखकर खड़ा हो गया था। फिर जैसे ही वो अंदर जाने लगी, तो मैंने उसका हाथ पकड़ा और बोला कि तुम वो सब करना चाहती हो? जो वीडियो में कर रहे थे। तो वो मेरा हाथ झटके से छुड़ाकर बोली कि नहीं आप मेरे भाई के दोस्त हो, में नहीं कर सकती। फिर मैंने कहा कि तुम टेंशन मत लो कुछ नहीं होगा, बहुत मज़ा आएगा और इतना कहते ही मैंने उसे अपनी तरफ खींचा और उसके होंठो को चूमने लगा। वाह कितने मीठे होंठ थे उसके? वो एकदम टाईट थी और छुटना चाहती थी। लेकिन अब में उसे जाने देने वाला नहीं था वैसे भी अब मेरा मूठ मारने का दिल कर रहा था, लेकिन अब तो चूत छोड़कर लंड को शांत करना था। फिर मैंने उसे चूमना स्टार्ट कर दिया था, अब वो थोड़ी सी ज़िद्द करने के बाद मेरा साथ देने लगी थी।

फिर हम दोनों ने करीब 10 मिनट तक किस की और फिर मैंने अपनी पकड़ को थोड़ा सा कम किया, तो फिर वो अपने रूम में चली गई। फिर उसके पीछे में भी उसके रूम में गया, अब वो बेड पर जाकर बैठ गई थी और कुछ सोचने लगी थी। फिर में भी जाकर उसके जस्ट बगल में बैठ गया और उसके हाथ को सहलाने लगा। फिर थोड़ी देर के बाद मैंने उससे पूछा कि क्या सोच रही हो? तो उसने कोई जवाब नहीं दिया। फिर मैंने उसे अपनी तरफ घुमाया, तो अब उसने अपनी आँखे नीचे झुकाई हुई थी। फिर मैंने उसका चेहरा ऊपर उठाया और उससे आई लव यू बोला और उसे फिर से स्मूच करने लगा। अब वो भी मेरा पूरा साथ दे रही थी, अब में उसको स्मूच करने के साथ उसके बूब्स को भी दबा रहा था। अब वो बहुत गर्म हो रही थी, उसने एक टी-शर्ट पहन रखी थी जिसे मैंने उतार दिया था। अब उसके बूब्स मेरे सामने थे, उसके बूब्स एकदम टाईट थे और उसके निपल ऐसे थे जैसे मुझे कह रहे हो चूस लो मुझे, उसके निपल ब्राउन कलर के थे।

loading...

फिर में उठा और कमरे की लाईट चालू कर दी, वाऊ वो नंगी तो एकदम कयामत लग रही थी, अब वो बस केफ्री में थी। फिर में उसके पास गया और बोला कि कुछ सोचो मत और उसे बेड पर लेटा दिया और उसकी केफ्री भी उतार दी। वाऊ उसकी चूत एकदम चिकनी लाल कलर की थी, अब मेरा लंड तो डबल टाईट हो चुका था। फिर मैंने अपने कपड़े उतारे और एकदम नंगा हो गया। अब उसकी नज़र मेरे लंड पर थी और हल्की सी स्माइल कर रही थी। फिर मैंने उससे पूछा कि क्या हुआ? तो वो बोली कि यह कितना बड़ा है और काला भी है। फिर मैंने उससे कहा कि मेरी जान आज हम बहुत मज़ा करने वाले है और फिर में उसके ऊपर आ गया और उसे चूमने लगा। अब मेरा लंड उसकी टांगो के बीच में टच कर रहा था, अब मेरा दिल तो कर रहा था कि बस उसकी चूत में अपना लंड अंदर डाल दूँ, लेकिन में सब्र रखते हुए उसे चूमता रहा।

फिर मैंने उसके एक बूब्स के निपल को अपने मुँह में लिया और चूसने लगा और अपने दूसरे हाथ से उसके एक बूब्स को दबाने लगा। अब वो अपनी आँखे बंद करके इन्जॉय कर रही थी और हल्की-हल्की आवाज़ कर रही थी सस्शह आअहह। फिर थोड़ी देर तक उसके निपल्स को चूसने के बाद मैंने उसकी टांगो को फैलाया और उसकी चूत को अपनी उंगली से फैलाने लगा और अपनी उंगली उसकी चूत पर रगड़ने लगा। अब वो एकदम मदहोश हो चुकी थी और बस आअहह सस्शहा उम्मह कर रही थी। फिर मैंने अपनी जीभ उसकी चूत पर रखी और चाटने लगा। अब उसकी चूत एकदम गीली हो गई थी और उसकी चूत का स्वाद नमकीन था। फिर करीब 5 मिनट तक उसकी चूत को चाटने के बाद में उसकी टांगो के बीच में आया और अपना लंड उसकी चूत पर रगड़ने लगा। फिर में उसके होंठो के करीब गया और अब हम दोनों एक दूसरे को एकटक देख रहे थे। फिर उसने कहा कि शेखर आई लव यू, तो मैंने भी उसे आई लव यू टू कहा और अपना लंड उसकी चूत के छेद पर लगाया और जोर से एक धक्का लगाया, तो उसने अपनी आँखे बंद करके स्शहाहह की हल्की आवाज़ निकाली और फिर देखने लगी।

फिर मैंने एक और धक्का मारा और मेरा लंड उसकी गर्म चूत में घुस गया। फिर मैंने अपना लंड उसकी चूत में ही बिना हिलाए 2 मिनट तक रखा और उसे चूमता रहा, क्या एहसास था यारो? जैसे एकदम चूत के अंदर आग लगी थी। अब मुझे उसकी चूत की गर्मी अपने लंड पर महसूस हो रही थी। फिर मैंने धीरे-धीरे धक्के मारने स्टार्ट किए। अब उसने मुझे कसकर पकड़ रखा था, अब उसके हाथ मेरे चूतड़ों पर थे और वो नीचे से धीरे-धीरे उछल रही थी। अब में भी उसे चोदे जा रहा था और वो आआहह आआहह उउउहमह उम्मह आअहह की आवाजे निकाले जा रही थी। अब उसकी आवाज़े सुनकर मैंने उसे और ज़ोर से चोदना स्टार्ट किया। अब उसकी साँसे एकदम गर्म हो गई थी, अब में उसे ज़ोर-ज़ोर से चोदने लगा था।

फिर 4 मिनट के बाद वो एकदम टाईट हो गई और मेरे चूतड़ों को ज़ोर-ज़ोर से दबाने लगी। अब वो झड़ने वाली थी तो मैंने भी अपनी स्पीड और बढ़ा ली और ज़ोर-ज़ोर से चोदने लगा। अब पूरे कमरे में ठप ठप ठप की आवाज़े और उसकी आआहह हह हह हूऊ ऊओ ह अया हह उम्मह हह मौनिंग की आवाज़े आ रही थी। फिर ज़ोरदार झटके के साथ वो एकदम से ढीली पड़ गई और में उसे चोदता रहा। अब वो चाहती थी कि में अपना लंड बाहर निकल लूँ। फिर उसने कहा कि अपना लंड बाहर निकालो, तो मैंने कहा कि क्या हुआ? तो वो बोली कि बाहर निकालो, तो मैंने अपना लंड बाहर निकाल लिया। फिर वो बोली कि अब में करती हूँ और बोली कि अब आप लेट जाओ, तो में लेट गया और वो मेरे लंड के पास बैठ गई और मेरे लंड को सहलाने लगी।

loading...

फिर थोड़ी देर के बाद वो मेरे लंड को अपने मुँह में लेकर चूसने लगी आआहह हह वाऊं आआव आह्ह्ह्ह। अब में तो जन्नत में था, अब वो मेरा लंड बहुत ही मस्ती से चूस रही थी शायद वो पॉर्न मूवी में देखकर सीख चुकी थी। फिर थोड़ी देर तक मेरा लंड चूसने के बाद वो मेरे लंड के ऊपर आई मेरे लंड को अपनी चूत के छेद पर रखा और बैठ गई। अब मेरी तो आहह निकल रही थी, फिर वो धीरे-धीरे उछलने लगी। वाऊ अब उसके टाईट बूब्स मेरे सामने उछल रहे थे और वो मुझे मज़े से चोद रही थी। फिर उसने मेरे लंड को बाहर निकाला और मेरी टांगो को फैलाया जैसे लड़का लड़की की चूत में टाँगे फैलाकर अपना लंड डालता है। वैसे ही उसने मेरी टाँगे फैलाकर मेरे लंड को अपनी चूत में डाल दिया और फिर वो मेरे ऊपर आकर मुझे किस करने लगी, उसने अपनी चूत में मेरा लंड डाला हुआ था और फिर वो जैसे हम चूत में लंड से धक्के मारते है, वैसे ही अब वो धक्के मार रही थी। वाऊं अब में तो इस पोज़िशन से बहुत एग्ज़ाइटेड हो गया था। अब वो मेरे लंड को अपनी चूत से चोद रही थी, वो बहुत ही अच्छा पोज़ है यार में तो कहता हूँ कि हर लड़की को अपने बॉयफ्रेंड, पति, या जिससे भी चुदती हो ट्राई करना चाहिए।

फिर करीब 3 मिनट तक वो मुझे ऐसे ही चोदती रही और फिर उसने अपनी स्पीड बढ़ा ली। अब में भी झड़ने वाला था, अब हम दोनों ही आअहह आअहह आहह की आवाज़े निकाल रहे थे। अब में झड़ने वाला था तो मैंने उससे बोला कि चूत से लंड बाहर निकालो, मेरा निकलने वाला है। तो उसने जोरदार धक्को के साथ मेरे लंड को बाहर निकाला और मेरे लंड को हिलाने लगी तो फिर मेरे लंड से पानी उसके पेट और उसके बूब्स पर उछलकर गिर गया। वाऊ अब वो बहुत खुश थी और में भी बहुत खुश था। फिर उसने मेरे लंड के पानी को कपड़े से साफ किया और फिर वो मेरे ऊपर आकर लेट गई और मुझे किस करने लगी। फिर मैंने उसे बगल में लेटाया और उसके बूब्स को सहलाते हुए बोला कि कैसा लगा जान? तो वो बोली कि थैंक यू। फिर मैंने उससे पूछा कि तुम्हारे कोई बॉयफ्रेंड है? तो वो बोली कि हाँ है।

loading...

फिर मैंने उससे पूछा कि यह सब उसके साथ कभी किया है। तो वो बोली कि बस किस की है, उसने सिर्फ मेरे बूब्स दबाये है और मेरी चूत में उंगली की है, उसे इन सबका कभी मौका ही नहीं मिला, लेकिन आज मुझे बहुत मज़ा आया में हमेशा पॉर्न मूवी देखकर अपनी चूत में उंगली कर लेती थी। फिर मैंने उसे किस किया और बोला कि तुम मुझे बहुत अच्छी लगती हो, तो वो बोली कि आप भी मुझे बहुत पसंद हो। फिर मैंने उससे कहा कि आज से अब हम बॉयफ्रेंड-गर्लफ्रेंड है। तो वो बोली कि नहीं अब आप बॉयफ्रेंड से कही ज्यादा हो। फिर मैंने उससे कहा कि तुम्हरा भाई तो बहनचोद बहुत पीता है। तो वो बोली कि अगर वो ना पीते तो शायद आज हम इस तरह साथ ना हो होते, तो मैंने एक स्माइल की और उसे किस की। फिर मैंने बोला कि एक बार और हो जाए, तो वो बोली कि में आपके पास हूँ, मेरे बदन पर एक भी कपड़ा नहीं है एक बार क्या? जितनी मर्ज़ी हो करो आज रात तो में आपकी हूँ।

फिर मैंने उससे कहा कि आज रात तुम मेरी हो, लेकिन अब जब भी मौका मिलेगा तो में आऊंगा, तो इस प्यारी चूत को चुदवाओगी ना। तो वो बोली कि में तो चाहती हूँ कि आपका लंड हमेशा मेरी चूत में ही रहे, लेकिन अफ़सोस ऐसा नहीं हो सकता। फिर मैंने उससे कहा कि उदास मत हो मेरी जान, आजा में तुझे एक बार और चोद दूँ। फिर मैंने उसे किस करना स्टार्ट कर दिया और वो मेरे लंड को सहलाने लगी। इस बार मैंने उसे डॉगी स्टाइल में चोदा और उसको अपनी गोद में उठाकर दीवार से चिपकाकर खूब चोदा। फिर हमने 4 बजे तक 3 बार चुदाई की और फिर में अपने कपड़े पहनकर जहाँ उसका भाई सोया था वहाँ आ गया। अब तो मेरा नशा बिल्कुल उतर गया था और वो रवि साला अभी भी पड़ा हुआ था। फिर मैंने रवि को उठाया और बोला कि भाई अब में जाता हूँ, तभी वो भी आ गई उसकी स्माइल बहुत मस्त है। फिर रवि नहाने चला गया और में उसे एक स्मूच करके वापस घर आ गया। फिर शाम को मुझे एक अंजान नंबर से कॉल आई, तो मैंने कॉल रिसीव की। तो वो बोली कि में नीतू बोल रही हूँ भाई आज लेट आएगे रात को आ जाओ और फिर चले जाना। तो में उसके घर गया और दो बार और चुदाई हुई। फिर उसके बाद हम बाहर भी मिलने लगे और जब भी हमें मौका मिलता तो हम अच्छी चुदाई करते है। तो दोस्तों यह थी मेरी स्टोरी जो आज भी चल रही है ।।

धन्यवाद …

Comments are closed.

error: Content is protected !!

Online porn video at mobile phone


sex stores hindehindi sex storyhindi sx kahaniindian sex stories in hindi fontshendhi sexsex hindi font storyhinde sexy sotrysexy adult hindi storyhindi sexy story hindi sexy storysaxy storeyhindi sex stories read onlinewww sex kahaniyasexy story hundisex new story in hindihindi sexi storieindian sex stories in hindi fontshindi kahania sexindian sex stpwww indian sex stories cosexy story new hindisex hindi sex storysexi stroyindian sex stpindian hindi sex story comsexy storyysexy story in hindi fonthendi sax storesexy story hindi mekamuka storysexstores hindisexy stotihindi sex story downloadwww free hindi sex storysexi story hindi mhindi sexy story hindi sexy storyarti ki chudaibhabhi ne doodh pilaya storyhindi adult story in hindisaxy hindi storyshindi sexy stoerysimran ki anokhi kahanidukandar se chudaihindi sexy stores in hindihindi sexy khanimami ki chodisaxy store in hindihinde sex storesexi khaniya hindi mefree hindisex storiessex store hindi mehindi sex storidswww indian sex stories cosexy storishhindi sex story free downloadadults hindi storieshindi sex story downloadchudai kahaniya hindihindi sexy storehinndi sexy storysexi storeyhindi sex storaihindi sexi kahanisax stori hindesexy syorykamuktasex story read in hindisex stores hindi comsex story in hindi newsex hindi new kahanihindi sex stories read onlinesex khaniya hindihindi font sex kahanisexy hindy storiessex story hindunew sexy kahani hindi mesexi storeishindi audio sex kahaniahindi sex kahanisex story in hidihindi sexy stoeyhindi sexy khanisexy story in hindohindi sexy istorisexy syoryhinde sexe storehindi sex storidssexi storeiskamuktahindi sexy story