बहन के पेटीकोट का नाड़ा खोला


Click to Download this video!
0
Loading...

प्रेषक : गुमनाम …

हैल्लो दोस्तों, आज में आप सभी कामुकता डॉट कॉम के चाहने वालों को अपनी एक सच्ची कहानी और मेरा सेक्स अनुभव आज आप सभी को सुनाने जा रहा हूँ, जिसमे मैंने अपनी छोटी बहन के साथ उसकी चुदाई के मज़े लिए वो सब कुछ मैंने कैसे किया अब में वो घटना आप सभी को पूरे विस्तार से बताना शुरू करता हूँ। दोस्तों मेरी छोटी बहन बड़ी ही सेक्सी है और वो दिखने में किसी हिरोइन की तरह लगती है, उसकी उम्र 18 साल है। उसके फिगर का आकार 32 -24- 32 है और उसके लंबे काले बाल, सुंदर चेहरा, कपड़ो से बाहर झाँकते हुए उसके वो आकर्षक गोल गोल बूब्स जिसको देखकर हर कोई उसको छूने दबाने की अपनी इच्छा मन में ही रखता है वो कुल मिलाकर बहुत मस्त सुंदर है और वैसा ही उसका नाम भी है उसका नाम रूपाली है। दोस्तों वो अपने कॉलेज में सलवार सूट और घर में छोटी स्कर्ट और एकदम टाइट शर्ट पहनती है, जिसकी वजह से उनकी उभरी हुई छाती और गोरी गोरी चिकनी जांघे मुझे अपनी तरफ आकर्षित करती है और में बचपन से ही अपनी बहन को बहुत प्यार करता हूँ और वो हमेशा मेरे साथ ही रहती है वो मेरे रूम में अपनी पढ़ाई करती है और रात को सोती भी मेरे पास ही है कुछ समय पहले वो मेरे ही बेड पर सोती थी, लेकिन जब से वो 16 साल की उम्र की हुई है, मतलब जब से उसके बूब्स ने उसके गदराए बदन के साथ साथ अपना भी आकार बदलना शुरू किया है तब उसके बाद से वो मेरे पास में एक अलग बेड पर सोती है।

में उसे कभी कभी प्यार से अपनी गोदी में भी उठा लेता हूँ और मस्ती करते समय अचानक से उसको बहुत बार चूमता भी हूँ उसके पूरे शरीर पर हाथ फेरता हूँ और कभी गुदगुदी भी करता हूँ ऐसा करना मुझे बहुत अच्छा लगता और में इस बहाने से उसके सेक्सी अंगो जैसे चिकनी जाँघ, बाहर निकले हुए चूतड़, गोरे मुलायम पेट, तने हुए एकदम गोल बूब्स को छूने की पूरी कोशिश करता हूँ, वैसे मेरी बहन मेरी इस कोशिश और मेरे मन में उसके लिए क्या चल रहा है उस बात से बिल्कुल अनजान थी। फिर में कभी कभी अपनी बहन की पेंटी को चोरी छिपे चूमता तो कभी अपने अंडरवियर को उसकी पेंटी के ऊपर डाल देता और ऐसा करना मुझे बहुत अच्छा लगता। दोस्तों मेरी नज़र हमेशा उसके बूब्स, चूतड़ पर होती थी। फिर जब कभी मेरी बहन पढ़ते पढ़ते रात को कुर्सी पर ही सो जाती तो में तब भी उसे देखता और उसको अपनी गोद में उठाकर बेड पर लेटा देता। इस दौरान मेरी पूरी कोशिश होती थी कि में अपनी बहन के चूतड़, जाँघ पर या फिर उसकी छाती पर अपने हाथ को स्पर्श करूं और हाँ एक बात और भी है कि मेरी बहन कभी कभी रात में गहरी नींद में कुछ भी बड़बड़ाती है, तब में अंधेरे में ही उसको चुप करवाने की कोशिश किया करता था और इस दौरान में अंधेरे का फ़ायदा उठता और बहन के बूब्स को ज़रूर छूता, उसके बदन से जानबूझ कर चिपककर गरमी लेता और उसकी छाती पर हाथ रखकर बूब्स को हल्के से दबा देता और मन ही मन बहुत अच्छा ख़ुशी महसूस करता। एक दिन मेरी बहन नहा रही थी और उस दिन मेरी अच्छी किस्मत से घर पर हम दोनों के अलावा कोई भी नहीं था तो मैंने मौके का फायदा उठाकर बाथरूम की दीवार के पास में एक छोटे से छेद से उसको नहाते हुए देखने लगा, मुझे उसके वो बड़े आकार के हल्के गुलाबी रंग के गोल गोल सेब बड़े ही सेक्सी आकर्षक सुंदर लग रहे थे, जिनसे मेरी नजर हटने को बिल्कुल भी तैयार नहीं थी। कुछ देर बाद बहन ने अपनी पेंटी को भी खोल दिया, जिसकी वजह से मुझे ज्यादा मज़ा आ गया और मेरा लंड खड़ा होने लगा। तभी मैंने देखा कि मेरी बहन की उस कुंवारी छोटी आकार की चूत पर काले रंग के आकार में छोटे बहुत सारे बाल थे जिसको देखकर मेरा मन किया कि में अभी अंदर जाकर अपनी नंगी बहन के पूरे गरम सेक्सी बदन को चूम लूँ और उसको वहीं पर पकड़ कर जबरदस्ती चोद दूँ और उसके दोनों बूब्स का रस पूरी तरह से निचोड़कर पी जाऊँ और कुछ देर बाद में वहां से हटकर अपने कमरे में आ गया। अब में बस उसी के बारे में सोचता रहा और मेरी आखों के सामने बार बार उसका सेक्सी गोरा बदन आ रहा था, जिसकी वजह से मेरा लंड बैठने को बिल्कुल भी तैयार नहीं था और उस रात को में पूरी रात बस उसी को सोचता हुआ जागता रहा, लेकिन अब मैंने अपने मन में ठान लिया था कि में उसको जरुर चोद दूँगा और अपने मन को एक बार जरुर शांत करूंगा और अपने लंड को उसकी चूत का स्वाद जरुर चखवा दूंगा। फिर जब मेरी बहन कुछ घंटो बाद गहरी नींद में सो गई तो मैंने थोड़ी सी हिम्मत करके उसकी शर्ट के ऊपर वाले दो बटन को धीरे से खोल दिया जिसकी वजह से उसके बड़े आकार के बूब्स बाहर आने लगे और मुझे उसकी ऊँची उठी हुई छाती नजर आने लगी और फिर मैंने धीरे से उसके बूब्स पर अपना एक हाथ रख दिया जिसकी वजह से मेरा लंड एकदम कड़क तनकर खड़ा था और कुछ देर बाद मेरी बहन के करवट बदलने की वजह से मेरा लंड अब ठीक उसके चूतड़ के पीछे उसकी गांड में फंसने लगा और में उससे खुद जानबूझ कर ज्यादा चिपक गया और मेरा लंड अब उसके दोनों कूल्हों के बीच में फंसा हुआ था। में बिना हिले वैसे ही लेटा रहा।

Loading...

फिर कुछ देर बाद उसकी तरफ से कोई भी हलचल ना देखकर मैंने थोड़ी सी और हिम्मत करके बहन की स्कर्ट को थोड़ा सा ऊपर उठाकर में अब उसकी तरफ सरक गया और अब मेरा लंड बहन के कूल्हों पर अपना दबाव डालने लगा था उसकी पेंटी बीच में होने के बाद भी में उसकी गांड की गरमी महसूस कर रहा था। तभी कुछ देर बाद धीरे से मेरी बहन ने उनन्न उनन्न की आवाज की जिसको सुनकर में थोड़ा सा डर गया, लेकिन बिल्कुल चुप रहा और वो दोबारा गहरी नींद में सो गई, दोबारा ऐसे ही चलता रहा। दोस्तों में उससे ज्यादा कुछ भी करने की हिम्मत नहीं कर सका, लेकिन मेरा मन हमेशा बहन की तरफ आकर्षित होता और में बाहर बाजार से जब भी वापस आता तो थकने का बहाना बनाता और फिर अपनी बहन से मालिश करने के लिए कहता। फिर वो मेरे पूरे शरीर पर अपने मुलायम गोरे हाथों से तेल लगाकर मालिश किया करती और में उससे अपनी जाँघो पर भी मालिश करने के लिए कहता मुझे बड़ा मज़ा आता और जब मेरी बहन मेरे पेट पर मेरे कहने से थोड़ा सा नीचे भी मालिश करती तो मुझे बहुत अच्छा महसूस होता। बहन के 16 साल के होते तक में दिन में खुलकर हिम्मत नहीं किया हाँ रात में बहन को ज़रूर अपने से चिपका लेता और जब वो सो जाती में अपना एक पैर बहन के ऊपर रख देता, उसके चूतड़ के पीछे अपना लंड रगड़ता उसके बूब्स को सहलाता तो मेरी बहन हल्की सी आवाज में उन्नन्न उह्ह्ह्ह करने लगी और तभी में एकदम चुपचाप लेट जाता। दोस्तों ये कहानी आप कामुकता डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

में कभी कभी बहन की स्कर्ट को ऊपर उठा देता और चूत के ऊपर पेंटी पर हाथ रख देता, लेकिन नंगी चूत पर हाथ रखने से डर जाता और शर्ट के दो या तीन बटन धीरे से खोल देता और यह सब मेरी बहन को पता नहीं चलता और वो सोती रहती और में बहन के बूब्स पर हाथ रखकर सो जाता। फिर जब मेरी बहन 18 साल की हुई तब एक दिन वो आँगन में परदा लगाकर बाथरूम में मौसी का पेटीकोट अपने कंधे तक पहनकर नहा रही थी और कुछ देर अपने कपड़े धोने के बाद उसने जब नहाना शुरू किया तो उसको एक परेशानी महसूस हुई और वो मुझसे आवाज लगाकर बोली कि भैया यह पेटीकोट का नाड़ा मुझसे नहीं खुल रहा है आप इसको खोलने में मेरी थोड़ी मदद कर दो और उस समय मेरी अच्छी किस्मत से घर पर कोई भी नहीं था। फिर में तुरंत मन ही मन बहुत खुश होकर बाथरूम में चला गया और मैंने देखा कि मेरी बहन एक बहुत पतला भीगे पेटीकोट में थी और उसने अंदर और कुछ नहीं पहना था मुझे उसके गोरे गोरे बूब्स के खड़े निप्पल गोरी जांघे साफ साफ नज़र आ रही थी जिसको में देखता ही रह गया और मेरा लंड एकदम खड़ा हो गया और में जोश में आकर अपने होश खो बैठा और मैंने झट से अपनी बहन को चूमना शुरू किया। में उसके गालों को बूब्स को सब तरफ चूमने लगा और मेरी इस हरकत से मेरी बहन हैरान रह गई और वो मुझसे बोली कि भैया यह सब क्या है? यह तुमको अचानक से क्या हो गया है? यह तुम मेरे साथ क्या कर रहे हो? प्लीज छोड़ दो मुझे दूर हटो आह्ह्ह। अब में उससे बोला कि बहन ला में तेरा नाड़ा खोल देता हूँ और मैंने तुरंत उसके पेटीकोट को नीचे गिरा दिया, जिसकी वजह से मेरी जवान सुंदर बहन मेरे सामने अब पूरी नंगी खड़ी थी। अब में खुद को रोक नहीं सका और में उसकी चढ़ती जवानी को देखकर बिल्कुल पागल हो गया और मैंने उसके बूब्स को चूमा, चूसा, ज़ोर से मसला और अब मेरा लंड बहन के नंगे बदन को छू रहा था और में लंड को उसकी जाँघ पर रगड़ रहा था। फिर मैंने बहन को वहीं पर बैठाकर उसके दोनों पैरों को पूरा फैला दिया और अब अपनी बहन की सेक्सी चूत को चाटने लगा और उसके बूब्स को मसलता रहा। इस दौरान मेरी बहन कसमसा रही थी और वो मुझसे बार बार मना करती रही, वो मुझसे भैया भैया बोलती रही, लेकिन में तब भी नहीं रुका और चूत को चाटने के साथ साथ उसके बदन को सहलाता रहा, कुछ देर बाद मैंने महसूस किया कि अब शायद मेरी बहन भी मेरे साथ मज़ा लेना चाहती थी।

फिर उसके बाद मैंने अपनी बहन की चूत को अपनी जीभ से चोदा और मुझे बहुत मज़ा आ रहा था वो सिसकियाँ लेने लगी और उसके मुहं से हल्की सी आवाजे आने लगी वो सर्र्र्र्र्र्र्ररर अर्र्र्र्र्रररर्र्र्र्ररर आअहह प्लीज अब छोड़ दो मुझे, लेकिन वो मेरे सर को अपनी चूत पर दबाने लगी और में अपनी जीभ को उसकी खुली चूत में अंदर तक डालकर चूसने और उसकी चूत को चोदने लगा। अब मैंने उसको वहीं पर नीचे लेटाकर अपने लंड को जबरदस्ती उसके मुहं में डालकर हल्के हल्के धक्के देने लगा और में चूत को भी चाटने लगा। फिर कुछ देर बाद मेरी बहन के मुहं में मेरा पूरा वीर्य निकल गया और उसके पूरे चेहरे पर चिपक गया उसी दौरान वो भी मेरे मुहं में झड़ गई और मैंने चाट चाटकर उसकी चूत को साफ किया। फिर उसके बाद हम दोनों कुछ देर बाद अलग हुए और में अपने कमरे में आकर लेट गया। दोस्तों इस घटना के बाद हम दोनों कोई भी अच्छा मौका देखकर 69 की पोज़िशन में हर कभी सेक्स का मज़ा लेते रहे और वो मेरे चोदने से हमेशा संतुष्ट नजर आने लगी और में भी बहुत खुश था। इस तरह दोनों ने हर रात को अपना पानी निकालकर खुश रहना सीख लिया था। मैंने उसके बूब्स को भी जमकर दबाया निप्पल को चूसा और जब मेरी बहन 18 साल से ज्यादा की हुई तब में उसे बीए का पेपर दिलाने बाहर दूसरे शहर में ले गया और वहाँ पर हम एक लोज में रुके पढ़ाई के बाद हम दोनों ने 69 में चुदाई का मज़ा लिया। फिर शाम को हम एक साथ बाथरूम में नहाते और इस तरह में अपनी बहन को बार बार शहर में कई बार काम से ले जाता हूँ, कभी एग्जाम का फॉर्म भरने, कभी एग्जाम दिलवाने, कभी इंटरव्यू दिलवाने और हाँ एक बात में बता दूं कि मेरी जब बहन 18 की हुई तब से में उसको कंडोम लगाकर जरुर चोदता हूँ। हम भाई बहन की चुदाई अब भी बदस्तूर जारी है। अब तो मेरी प्यारी बहन मेरे ऊपर चढ़कर अपनी चूत में मेरा लंड डालकर मेरे ऊपर उछल उछलकर मुझसे अपनी चुदाई करवाती है और वो अब यह सब करने में बिल्कुल भी शरमाती नहीं है मैंने भी उसको हर एक तरह से बहुत बार चोदा और वो मेरे लंड को चुम्मा भी देती है और लंड पर तेल लगाकर मालिश भी करती है। उसने मेरे कहने पर बहुत बार मेरे लंड का पानी निकाला और मैंने उसकी चूत को चाटकर उसको संतुष्ट किया ।।

Loading...

धन्यवाद …

Comments are closed.

error: Content is protected !!

Online porn video at mobile phone


saxi kahanipatni chalak sax kahaniमजेदार चुदाईsex kahaniyacache:F4N7SmOCOyQJ://radiozachet.ru/pyar-aur-vasna-ka-nanga-khel/ maa ki dosto ne ki jabrjasti all story hsscodo mujh pani nikldo saxy vidiyo odiyoममी के साथ नाईट में जबरदस्ती सेक्स कियाsexy story all hindihindi sex katha in hindi fonthini sexy storyसेकसि कहानिhinde six storyvidhwa maa ko chodasexestorehindeNani k ghr ghamasan chudai mosi mami maahindi sex story hindi languageतीन बछो की माँ को चोदाhinde sexy storyअंधेर मे दूसरे को चोदा गलती सेsex hindi sexy storysexi storijचूत चुदवा कर आईKaki ki Kali choot chodahindi sex strioeshindi sex khaneyahindisexystroieshindi sexy kahani comHendichuthindi sex story read in hindisex story read in hindisexy stoies hindi//radiozachet.ru/dost-ki-maa-ko-choda-gajab-tarike-se/bhabhi ko nind ki goli dekar chodasexy stry in hindihini sexy storyचूमते चोदाsexy story un hindixxx dukan dar ne ki grahak ki cudai videoSex story Hindi सैक्सीदादी.कहॉनीनींद की गोलियां kilaka chut chodihinde sex storywww.downloading the video of anter bhasna office sex video.comसेक्स किया अच्छे से बारिश में रिक्शेवाले के साथsaxy hindi storysSex kathahindi sex stories read onlineपापा के बूढ़े दोस्त ने मुझे छोड़ाHINDE SEX STORYsadi moti cutvala indian saxhinde sxe 2018चुदकड को चोद कर सात किया कहानिदीपा चाची के चुदाईbhai sex tour onlinesexy story new hindisimran ki anokhi kahaniBayte.mather.aur.father.saxsa.kahane.hinde.sax.baba.net.sexy khani newpagl walsexy chut videosaxy storeysexcy story hindichodai vidio sex cam उम्र को choda.comsexe story मजबुर छोटी लडकी की सैक्सी काहनीयाअंधेर मे दूसरे को चोदा गलती सेचूत चुदवा कर आईhindi sex kathasexi story audiobehan ne doodh pilayasexy storiyrisţo mai chudai khaniyasexikhaniya.cosexy sex hindi stoorisex khaniya hindiमेरे सामने मेरी बीबी को चोदेsexysetoryhendihinde sax khanibibi see sex masti prayi ourat mi nahihindi kahani vidhva ki garmi nadan devar hindi sexy kahani comkamukta.sexy new hindi storyरानी को चोदाभाभी को ठोकाxxx dukan dar ne ki grahak ki cudai videosex sto hindi didiSex sasu mom story in hindi mut piya and pilayaबहन की चतु की रस हिन्दी कहानी न्यू 2018 अक्टूबरससुर ने बहु की मोटे लङ से चुदाई कीsexi stroyअपनी सगी भाभी की गांड मे लंड डालकर मारा hindi khanisexihindikahani san 2018